बड़ी सोच का जादू | Power of Thinking

पनी जिंदगी को बड़ा बनाने के लिए अपनी सोच को बड़ा करना जरूरी है। अगर हम बड़ी चीजों को पाने की इच्छा रखते हैं तो हमें उन चीजों को पाने के लिए अपनी सोच बड़ी करनी ही पड़ेगी। "हमारे जीवन में हमारी इंटेलिजेंस, हमारी फैमिली बैकग्राउंड का या फिर हमारे लक का इतना असर नहीं होता जितना कि हमारी सोच का होता है।" 


हमारे दिमाग का साइज हमारे क्रिया-कलापों को डिसाइड नहीं करता बल्कि हमारी सोच डिसाइड करती है कि हम अपनी जिंदगी में कितना आगे जाने वाले हैं, क्या बनने वाले हैं? पर हमारी सोच भी इतनी आसानी से बड़ी नहीं हो जाती। 


अगर हम अपना देखने का नजरिया न बदलें तो समय के साथ-साथ धीरे-धीरे हम वहीं पहुंच जाते हैं, जहां से हमने शुरू किया था. तो फिर हम ऐसा क्या करें? कि हमारी सोच में बड़ा और कई बदलाव आए। 

badi-soch-ka-jaadu

    मेक एनवायरनमेंट मेक यू सक्सेसफुल- 

    यदि आपको अपनी सोच में बड़ा जादू लाना है तो उसके लिए आप अपने आसपास का माहौल ऐसा बनाकर रखें कि वह आपको सक्सेसफुल होने पर मजबूर कर दें। आपका एनवायरनमेंट ऐसा होना चाहिए कि आपकी अभी की कंडीशन चाहे जो भी हो आपके हाथों में होनी चाहिए, आपकी पकड़ में होनी चाहिए


    क्या आप आपका सारा टाइम ऐसे लोगों के साथ बिता रहे हैं, जो आपके जितने सक्सेसफुल नहीं है या फिर ऐसे लोगों के साथ जो उस रास्ते (सफलता के रास्ते) पर नहीं जा रहे, जिस रास्ते पर आप अपनी जिंदगी को ले जाना चाहते हैं, आपको क्या लगता है? 

     

    ऐसे में क्या होगा? ऐसे में अच्छी-खासी संभावना है कि आप सफल नहीं हो पाएंगे क्योंकि आपने अपने वातावरण को ऐसा डिजाइन नहीं किया, आपने अपनी सोच वैसी नहीं बनाई जो कि आपको सफल बना सके। इमेजिन कीजिए कि आप अपना वेट लूज करना चाहते हैं। अपने इस लक्ष्य को पाने में आपके घर का कैसा एनवायरनमेंट आपकी मदद करेगा

     

    ऐसा जिसमें आपके घर में खराब और फैट बढ़ाने वाली चीजें है या फिर ऐसा जिसमें आपके घर में खाने के लिए केवल हेल्दी चीजें हैं तो अपने शरीर को स्वस्थ्य बनाने के लिए आपको अपने घर में एक हेल्दी एनवायरनमेंट बनाने की जरूरत है। 

     

    लाइफ में कई बार ऐसा समय आता है जहां हमारा एक्शन लेना बहुत जरूरी हो जाता। जिन चीजों को हमें पाना होता है या जरूरत होती हैं। उनको पाने के लिए हमें कुछ करना होता है। मगर हम पाते हैं कि हम हमारे लक्ष्य को पाने का सोचते तो रहे पर हमने किया कुछ नहीं? 

     

    कभी हमें लगा कि हमें थोड़ा और मुस्तैद होने की जरूरत है तो कभी हमें लगा कि अभी हमारे पास कुछ नहीं है जिससे यह बोला जा सकता है, और यही सोचकर हम बैठे हैं पर सच्चाई तो यह है कि जितना इंतजार हम करते जाते हैं, उतने ही हमें भयभीत कराने वाले नियम भी बनते जाते हैं। 

    सिचुएशन पर अटैक करना- 

    जितना समय हम खुद को किसी सिचुएशन के बारे में सोचने के लिए देंगे। वह सिचुएशन हमारे लिए उतनी ही बड़ी होती जाएगी और हमारा डर उस सिचुएशन के प्रति बढ़ता है। यह हमारे डर को बढ़ाता है, इसलिए डर को मारने के लिए एक्शन लेना जरूरी है। किसी भी चीज को एक जगह से दूसरी जगह ले जाना हो तो हमें उठकर काम करना पड़ता है।

     

    सोचने से चीजें नहीं बदलती, सिचुएशन पर अटैक करना पड़ता है. नेपोलियन बोनापार्ट का नाम आपने सुना ही होगा. एक जंग के दौरान उनके जनरल उनसे आकर बोलते हैं कि सर युद्ध की स्थिति अभी सही नहीं है, मेरी यह सलाह है कि हमें कुछ समय के लिए अभी रुक जाना चाहिए, और रुक कर फिर से आक्रमण करना चाहिए।” 

     

    इस पर नेपोलियन बोले कि मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता कि परिस्थितियां कैसी हैं? मैं परिस्थितियों को बनाता हूं, परिस्थितियां मुझे नहीं बनाती।हमें अभी आक्रमण करना होगा। मैं इंतजार नहीं कर सकता, रही बात परिस्थितियों की तो उनको हम अपनी दिशा में मोड़ ही लेंगे। 


    क्वालिटीज पहचानना-

    कभी-कभी हमें हमारे कद, हमारी सोच का सही अंदाजा नहीं होता। हम अपने आपको बहुत छोटा मान लेते हैं. इसी कारण हम किसी बड़-बोलों के तलवे चाटने पर मजबूर हो जाते हैं और अपने आपको कुछ नया करने से रोक लेते हैं कि मेरे पास क्षमता नहीं है, मेरे पास वह क्वालिटीज नहीं है जो महान लोगों में होती हैं, मैं इतना इंटेलिजेंट नहीं हूं, मेरे पास स्पेशल पावर नहीं है। 

     

    हममें से कई लोग इसी तरह के कई ख्यालों में खुद को बांधकर रखते हैं और अपने प्रति ऐसा एटीट्यूड रखना ही हमारे लिए बहुत भारी पड़ता है, पर ऐसे एटीट्यूड से बचने का तरीका बिल्कुल सिंपल सा है। अपने अंदर की 05 क्वालिटीज को एक कागज पर लिखिए जो आपके अंदर भरी पड़ी हैं। 

     

    फिर इन लिखी गई क्वालिटीज के नीचे पांच ऐसे इंसानों के नाम लिखिए जिनके अंदर वह क्वालिटीज बिल्कुल नहीं है लेकिन फिर भी वह आपसे बहुत सक्सेसफुल है। ऐसा करने से आपको पता चलेगा कि आप दुनिया के बहुत सफल लोगों से किसी ना किसी चीज में आगे हैं। इस तरह से आप जान जाएंगे कि आपका कद कितना बड़ा है जबकि आप अपने आपको कितना छोटा मानते थे। 

     

    आपके अंदर जो कॉन्फिडेंस (आत्म-विश्वास) आएगा, वह आपको आगे बढ़ने में आपकी बहुत मदद करेगा। सफल लोग कहते हैं कि सफलता पाने के लिए हमें आगे रहना पड़ता है और बार-बार नई सोच का जादू चलाना पड़ता है. थॉमस एडिसन ने कई हजार बार प्रयास किया तब जाकर वे एक बल्ब का आविष्कार कर पाए।

     

    उन्होंने एक बल्ब को बनाने के लिए 10 हजार बार केवल एक ही तरीका नहीं अपनाया बल्कि उन्होंने हर बार अलग-अलग तरीके से कोशिश की तब जाकर उन्हें कामयाबी मिली। इससे जाहिर है कि यदि आपके अन्दर धैर्य मौजूद तो आपको सफलता जरूर मिलेगी ही मिलेगी. 


    पा‌‍‌‌‍‍‌ज़ीटिव सोच

    क्या आपने कभी सोचा कि वर्ष 2020 ने हमें क्या दिया ?
    शायद आप बोलेंगे..... कोरोना, चक्रवात, व्यवसाय या नौकरी में नुकसान, मानसिक अनचाहा चिंतन, ..वगैरह ..वगैरह… लेकिन नहीं... आप गलत सोच रहे हो दोस्तों ...


    वास्तव सच में देखा जाए तो 2020 ने हमें संघर्ष करना और आत्मनिर्भर रहना सिखाया है. देश में स्वच्छता, सफाई कितनी जरूरी है? ये सिखाया. सावधानी बरतना, एक दूसरे की मदद करना, प्रकृति को सहेजना, अन्न की कीमत, मानसिक संतुलन बनाये रखने के साथ यह बताया कि कम खर्च में शादी और कम लोगों में भी अंतिम संस्कार भी हो सकता है, 


    मेकअप के बिना रहना सिखाया, घर में रहने के लिए आवश्यक संयम दिया, परिवार के साथ समय बिताकर संस्कार सिखाया, घर के काम में हाथ बंटाना सिखाया, भविष्य में आने वाली किसी भी बड़ी विपदा से निपटने की मानसिक तैयारी करायी,

    अमीरी-गरीबी का भेद मिटाया, अब तक हम जिन्हें अपने पूजा स्थलों पर देखते थे, उस परम शक्ति ईश्वर का घर-घर दर्शन कराया, आध्यात्मिक चिंतन करना सिखाया, सही मायनों में जीवन का वास्तविक मूल्य समझाया.


    दरअसल देखा जाए तो वर्ष 2020 हमारे मानव जीवन में, नई सोच और व्यवहार के साथ स्वभावगत चिंतन में बदलाव लाया है.


    अंत में-

    अपने बारे में अच्छी सोच बनाकर आप अपने जीवन को अपने आज से बेहतर तो बना ही सकते हैं. ऐसा करने से आपमें आत्मविश्वास आयेगा जिससे आप हर वो कुछ पा सकते हैं जिसकी आप इच्छा रखते हैं. यही तो है सोच मतलब बड़ी सोच का जादू. 

    विशेष टिप- 

    "अपनी सोच को सकारात्मक बनाये रखने के लिए सभी की यथाशक्ति मदद जरूर करें. यह वास्तव में काम करता है." आशा है आपको "बड़ी सोच का जादू" लेख पसंद आया होगा. 


    साथ ही मनोवैज्ञानिक बातों और तथ्यों को जानने के लिए वेबसाइट को subscribe करें, पोस्ट से संबंधित कुछ कहना या सुझाव देना चाहते हैं तो कृपया comment box का प्रयोग करें साथ ही पोस्ट में दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो share करना न भूलें.

     

    धन्यवाद! 

    जय हिंद! जय भारत!

    Post a Comment

    और नया पुराने