महिलाओं से जुड़ी मजेदार बातें

महिलाओं से जुड़े रोचक तथ्य, लड़कियों के बारे में मनोवैज्ञानिक तथ्य

आज के दौर में कई लोगों (पुरुषों) को लगता है कि महिलाओं या लड़कियों के अंदर ज्यादा समझ नहीं होती, जिस कारण महिलाओं की भावनाओं को काफी हद तक दबाया जाता है साथ कभी-कभी महिलाओं के सौम्य स्वभाव का शोषण भी किया जाता है।

लेकिन क्या आपको पता है कि महिलाओं के स्वभाव में कई ऐसे पहलू होते हैं जो पूरे समाज को प्रभावित करते हैं, इसी क्रम में आज हम आपके साथ महिलाओं से जुड़ी कुछ मजेदार बातों और मनोवैज्ञानिक तथ्यों को साझा करने जा रहे हैं, आशा करते हैं कि आपको यह जानकारी पसंद आए। चलिये शुरू करते हैं-


महिलाओं-के-रोचक-तथ्य, women's-facts-in-hindi

महिलाओं से जुड़ी कुछ मजेदार, रोचक और हैरान कर देने वाली बातें या तथ्य इस प्रकार है:-

  • प्रकृति ने पुरुष और महिला के शरीर में कई विविधताएं अवस्थित की हैं इसका प्रमाण यह है कि महिलाओं की त्वचा कोमल तथा शरीर के भीतरी अंग पुरुषों की तुलना में छोटे होते हैं।

  • महिलाओं या लड़कियों की जुबान चटोरी होती है क्योंकि महिलाओं को हर तरह के स्वाद का अहसास जल्दी से हो जाता है। इसका कारण यह है कि चूंकि महिलाएं रसोई का अधिकतम काम करती हैं, जिससे उन्हें पुरुषों कि तुलना में स्वाद का अधिक ज्ञान होता है।

  • महिलाएं रंगों की पहचान बेहतर ढंग से कर सकती हैं क्योंकि फ़ैशन की अगर बात की जाए तो महिलाएं पुरुषों से बाजी मार ले जाती हैं, साथ ही महिलाओं के पहनावे में पुरुषों के कुछ परिधान (वस्त्र) भी शामिल हैं जबकि पुरुष महिलाओं के परिधान नहीं पहन सकते।
  • महिलाओं या लड़कियों के बारे में मनोविज्ञान और विज्ञान कहता है कि महिलाओं का दिमाग बचपन की अवस्था में तेजी से विकसित होता है पुरुषों की तुलना में। शायद ही आपने कभी इस बात को गौर किया हो, आप इस तथ्य को कभी भी आजमा सकते हैं।

  • एक शोध के अनुसार महिलाओं को हिचकियाँ पुरुषों की तुलना में कम आती है। हालांकि इस तथ्य का कोई ठोस प्रमाण अभी तक नहीं मिला है, वैज्ञानिक इस तथ्य पर गहराई से शोध में लगे हुए हैं।

  • स्त्री-पुरुष आकर्षण मनोविज्ञान के अनुसार महिलाओं के दिमाग का वह भाग जो निर्णय लेने के लिए जिम्मेदार होता है वह पुरुषों की तुलना में बड़ा होता है। स्त्रियों को अपने आंकलन से यह एहसास होता है कि जो व्यक्ति उन्हें पसंद है उसमें बहुत सारी खामियां या विसंगतियां है. लेकिन, वह इन सब बातों को नजरअंदाज कर देती है क्योंकि, खामियों या विसंगतियों से ज्यादा उन्हें वह व्यक्ति पसंद होता है।

  • महिलाओं की प्रकृति ज्यादातर लचीली या लोचदार होती हैं। जिसके कारण महिलाएं अपने शरीर के सभी अंगों को आसानी से मोड़ लेती हैं। यही कारण है कि महिलाएं जिमनास्टिक जैसे खेलों में बड़ी संख्या में दिखाई देती हैं।

  • महिलाओं का दिल पुरुषों के मुकाबले तेजी से धड़कता है क्योंकि महिलाएं सम्बन्धों में बेहद भावनात्मक होती हैं। अक्सर गहरे संबंध गहरा आघात भी करते हैं जिससे संबंधात्मक और भावनात्मक क्षति भी उच्च स्तर की होती है।

  • महिलाएं अपनी पलकें पुरुषों के मुकाबले ज्यादा झपकाती हैं क्योंकि महिलाओं को अपनी आंखों को बेहतर बनाने के लिए अधिक मात्रा में लुब्रिकेशन की जरूरत पड़ती है, भावनाओं का समुन्दर महिलाओं की आँखों से होकर ही गुजरता है.

  • एक अध्ययन में बताया गया कि महिलाओं की सूंघने की क्षमता पुरुषों से कहीं ज्यादा होती है, साथ ही महिलाए गंध, सुगंध व दुर्गंध के अंतर को भी ठीक से पहचान कर लेती हैं.

  • स्त्रियों को जो सुख अपने माँ-बाप के घर यानी मायके में मिलता है वो सुख पूरी जिंदगी कहीं नहीं मिल पाता। पर सवाल पूछने से वे इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं देती हैं, ऐसा बहुत कम होता है कि कोई महिला '' कहे क्योंकि यदि महिलाओं के बुद्धिमान तथ्यों की बात की जाए तो महिलाएं किसी भी सवाल पर तब तक प्रतिक्रिया नहीं देती जब तक वो सामने वाले को अच्छे से परख नहीं लेती. तो साथियों मेरा अनुरोध है आपसे कि महिलाओं का सम्मान करें और उन्हें समझें, उनके प्रति गलत भावना न रखें।
  • महिलाएं या स्त्रियां जब दिल से ख़ुश या किसी से प्रेरित होती हैं तो बच्चों की तरह व्यवहार करती है फिर उनकी उम्र चाहे 80 साल की क्यों ना हो। साथ ही स्त्रियां या लड़कियां हँसी-मज़ाक की ठिठोली करने वाले लड़कों से जल्द ही आकर्षित हो जाती है क्योंकि लड़कियों को लगता है कि वे स्वयं में बहुत गम्भीर है।

  • लड़कियों के बारे में दिलचस्प मनोवैज्ञानिक तथ्यों की बात की जाए तो एक लड़की उससे ही अपनी तारीफ़ सुनना चाहती है जिससे वह प्यार करती है या फिर जिसे वह पसंद करती है। बस उसी से हर रोज़ अपनी तारीफ़ चाहती है।

  • प्यार के बारे में मनोवैज्ञानिक तथ्य यह है कि जब तक महिलाएं, स्त्रियां या लड़कियां गुस्सा करती है, रोती-धोती है और कभी-कभी रूठना मनाना करती हैं, तभी तक आपका रिश्ता बचा हुआ है। अगर वो यह सब न करके (छोड़कर) एकदम शांत या चुप हो जाएं तो समझिए फ़र्क़ पडना बंद हो गया है और अब वो रिश्ता को निभाना नहीं चाहतीं.

पोस्ट से संबंधित अन्य तथ्य-

आकर्षण के बारे में तथ्य 

प्यार से जुड़ी भावनाओं के मनोवैज्ञानिक तथ्य 

जीवन को बर्बाद करने वाले तथ्य 

अपने लक्ष्य को पाने के रोचक तथ्य


जागरूकता संबंधित अन्य लेख-

इंटरनेट पर डीपफेक्स का बढ़ता खतरा 

पैसा कमाने और करोड़पति बनने के 10 तरीके 

रोग प्रतिरोधक क्षमता को कैसे मजबूत बनाएं? | How to Improve your Immunity?


देखिये! महिलाओं की सहभागिता पुरुष के जीवन में बराबरी की होती है लेकिन समाज के कुछ पुरुष बराबरी का आश्वासन तो देते हैं पर जब देने की बात आती है तो पीछे हट जाते हैं, ऐसे समाज का विकास और विस्तार कैसे हो सकता है,

जहां पर एक-दूसरे के पूरक स्त्री-पुरुष में एक पक्ष (पुरुष पक्ष) की प्रधानता हो, इस मानसिकता के कारण महिलाओं को आज अपनी पहचान (अस्तित्व) बनाने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है. (पोस्ट में दी गई जानकारी मनोवैज्ञानिक विशेषज्ञों के विचारों व शोधों के आधार पर है साथ कुछ अंश पुस्तकों से लिए गए हैं.)


इसके अलावा अगर आप और भी दिलचस्प और रोचक जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो कृपया वेबसाइट की नोटिफिकेशन घंटी (bell) से subscribe करें. आशा है आपको यह पोस्ट (महिलाओं से जुड़ी मजेदार बातें) पसंद जरूर आया होगा, .


आगे समय-समय पर इसे अपडेट भी किया जाता रहेगा. साथ ही पोस्ट से संबंधित कुछ कहना या पूछना चाहते हैं तो कृपया comment box में लिखें. जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ share करना न भूले, इसी के साथ-

धन्यवाद!

जय हिन्द! जय भारत!

Post a Comment

और नया पुराने